“करोगे याद तो हर बात” मशहूर ग़ज़ल गायक भूपिंदर सिंह ने इस दुनिया को कहा अलविदा

दिल ढूंढ़ता हैं फिर वहीं, मेरी आवाज ही पहचान हैं जैसे कई मशहूर गीतों के गायक भूपिंदर सिंह का निधन हो गया हैं  है। उनकी पत्नी और गायिका मिताली सिंह ने गायक भूपिंदर सिंह के निधन की पुष्टि की है।

कई बॉलीवुड गानों के लिए मशहूर भूपिंदर सिंह ने सोमवार शाम को मुंबई के अंधेरी स्थित क्रिटिकेयर अस्पताल में शाम 7:45 बजे आखिरी सांस ली। वह काफी समय से स्वास्थ सम्बन्धी समस्यों से जूझ रहे थे ।

“करोगे याद तो हर बात” मशहूर ग़ज़ल गायक भूपिंदर सिंह ने इस दुनिया को कहा अलविदा भूपिंदर सिंह का निधन
करोगे याद तो..

भूपिंदर सिंह का संछिप्त जीवन परिचय

भूपेन्द्र सिंह का जन्म ब्रिटिश राज के दौरान पंजाब प्रान्त की पटियाला रियासत में 8 अप्रैल 1939 को हुआ था। उनके पिता प्रोफेसर नत्था सिंह एक बेहतरीन संगीतकार थे, लेकिन मौसिकी सिखाने के मामले में बेहद सख्त उस्ताद थे। अपने पिता की सख्त मिजाजी देखकर शुरुआती दौर में बालक भूपिन्दर को संगीत से नफ़रत सी हो गयी थी। लेकिन धीरे-धीरे उनके मन में संगीत के प्रति प्रेम पैदा होने लगा और फिर वो सीखते चले गए। 

धीरे-धीरे भूपिन्दर में गज़ल गायन के प्रति रुचि जागृत हुई और वह अच्छी गज़लें गाने लगा। शुरू-शुरू में भूपेन्द्र नें आकाशवाणी पर अपना कार्यक्रम पेश किया। आकाशवाणी पर उसकी प्रस्तुतियाँ देखकर दूरदर्शन केन्द्र, दिल्ली में उसे अवसर मिला। वहीं से उसने वायलिन और गिटार भी सीखा।

Yaro Dosti यारों दोस्ती बड़ी ही हसीन है Lyrics in Hindi RIP KK श्रद्धांजलि केके 

1980 के दशक में भूपेन्द्र सिंह ने बाँगलादेश की एक हिन्दू गायिका मिताली सिंह से शादी कर ली। उसके बाद उन्होंने पार्श्वगायकी से सम्बन्धविच्छेद कर लिया। मिताली-भूपेन्द्र सिंह के नाम से युगल गायिकी में उन्होंने कई अच्छे कार्यक्रम पेश किये जिनसे उनकी शोहरत को चार चाँद लग गये। लेकिन जैसा उन्होंने स्वयं कहा है “कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता” उन दोनों के कोई सन्तान नहीं हुई।

भूपिंदर सिंह की बेहतरीन नग्मे

भूपेन्द्र सिंह के गाये हुए बेहतरीन यादगार गीत व गज़ल इस प्रकार हैं:

  • दिल ढूँढता है फिर वही,
  • दो दिवाने इस शहर में,
  • नाम गुम जायेगा,
  • करोगे याद तो,
  • मीठे बोल बोले,
  • कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता,
  • किसी नज़र को तेरा इन्तज़ार आज भी है
  • दरो-दीवार पे हसरत से नज़र करते हैं,
    खुश रहो अहले-वतन हम तो सफर करते हैं

Lyrics Dil Dhundhata hai phir wahi

Song Detail

Song TitleDil Dhundhata hai phir wahin
FilmMausam
Music DirectorMadan Mohan
LyricsGulzar
 Singer(s)Bhupinder Singh, Lata Mangeshkar
Dil Dhundhata Hai Phir Kahin Song

Dil Dudhata Hai Phir Wahin Song Lyrics in Hindi Devanagari Font

दिल ढूँढता है फिर वही फ़ुरसत के रात दिन – (२)

बैठे रहे तसव्वुर-ए-जानाँ किये हुए

दिल ढूँढता है फिर वही फ़ुरसत के रात दिन…

जाड़ों की नर्म धूप और आँगन में लेट कर – (२)

आँखों पे खींचकर तेरे आँचल के साए को

औंधे पड़े रहे कभी करवट लिये हुए

दिल ढूँढता है फिर वही फ़ुरसत के रात दिन…

या गरमियों की रात जो पुरवाईयाँ चलें – (२)

ठंडी सफ़ेद चादरों पे जागें देर तक

तारों को देखते रहें छत पर पड़े हुए

दिल ढूँढता है फिर वही फ़ुरसत के रात दिन…

बर्फ़ीली सर्दियों में किसी भी पहाड़ पर – (२)

वादी में गूँजती हुई खामोशियाँ सुनें

आँखों में भीगे भीगे से लम्हे लिये हुए

दिल ढूँढता है फिर वही फ़ुरसत के रात दिन…

Lyrics Karoge Yaad to har baat yaad aayegi

Song Detail

Song TitleKaroge yaad to har baat yaad aayegii
FilmBazaar
Music DirectorKhaiyyam
LyricsBashar Nawaz
SingerBhupinder
Karoge yaad to har baat yaad aayegii

Karoge Yaad to har baat yaad aayegi Song Lyrics in Devanagri Font

करोगे याद तो, हर बात याद आयेगी – २

गुज़रते वक़्त की, हर मौज ठहर जायेगी – २

करोगे याद तो …

ये चाँद बीते ज़मानों का आईना होगा    – २

भटकते अब्र में, चहरा कोई बना होगा

उदास राह कोई दास्तां सुनाएगी    – २

करोगे याद तो …

बरसता-भीगता मौसम धुआँ-धुआँ होगा    – २

पिघलती शमों पे दिल का मेरे ग़ुमां होगा

हथेलियों की हिना, याद कुछ दिलायेगी    – २

करोगे याद तो …

गली के मोड़ पे, सूना सा कोई दरवाज़ा    – २

तरसती आँखों से रस्ता किसी का देखेगा

निगाह दूर तलक जा के लौट आएगी    – २

करोगे याद तो …

भगवान उनकी आत्मा को शान्ति प्रदान करें

Leave a Comment